अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखाएं :आप कितना जानते हैं?

0
19

अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाएं आप कितना जानते हैं 

 

 

किसे कहते हैं अंतर्राष्ट्रीय सीमा 

अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाएं वह हैं जो दो देशों के बीच स्थित हैं।

इनका बेहद महत्व है आज के वर्तमान आधुनिक दुनिया में।

एक जमाना था जब किसी भी देश का कोई औपचारिक सीमा रेखा नहीं था

तब सभी देश इनकी रक्षा सुरक्षा में चिंतित रहते थे

लेकिन जब से अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाओं का विश्व में अस्तित्व कायम हुआ तब से सीमा विवाद जैसे मसलों में भी कमी आई है।

विश्व शांति के लिए अंतर्राष्ट्रीय सीमा रेखाओं का बड़ा महत्व है

तो आइए चर्चा करे कुछ अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा के

कुछ इस प्रकार ,,,,,,,

डूरंड रेखा 

यह अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच स्थित है

सर मोस्टर ड्यूरंड इस रेखा को खीचने वाले थे

यह ब्रिटेन के रहने वाले थे

विशेष बात यह है कि अफगानिस्तान इस सीमा रेखा को नहीं मानता है।

मैक मोहन रेखा

 

इस अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा का जन्म 1914 में माना जाता है ।

ब्रिटेन निवासी सर मैकमोहन ने इसे भारत चीन के बीच सीमा निर्धारित करते हुए खींचा था ।

इसकी लम्बाई 700 मील है ।

खास बात है कि चीन इससे आज भी खुश नहीं है ।

रेड क्लिफ रेखा 

 

इस रेखा को भारत पाकिस्तान के बीच सीमांकन हेतु अस्तित्व प्रदान किया गया था ।

15 अगस्त 1947 को इस रेखा का जन्म सर रेड क्लिफ द्वारा माना जाता है ।

हिंडन बर्ग रेखा 

प्रथम विश्व युद्ध के समय 1947 में इस अंतरराष्ट्रीय रेखा का अस्तित्व सामने आया था ।

यह अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा जर्मन तथा पोलैंड के मध्य स्थित है ।

मैन रहीम रेखा 

सोवियत रूस तथा फिनलैंड के बीच इस अंतरराष्ट्रीय सीमा का अस्तित्व है 

 

मैगी नाट रेखा 

इस अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा को खुद फ्रांस ने खींचा था ।

इसका अस्तित्व फ्रांस तथा जर्मनी के बीच है ।

17वीं समांतर रेखा 

यह अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा उत्तरी तथा दक्षिणी वियतनाम के बीच स्थित है ।

24 वीं समांतर रेखा 

इस अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा का अस्तित्व कच्छ के पास मौजूद है ।

इसे पाकिस्तान भारत पाक की सीमा मानता है

लेकिन भारत पाकिस्तानी दावे को खारिज करता है ।

38 वीं समांतर रेखा 

यह अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा उत्तरी कोरिया तथा दक्षिणी कोरिया के मध्य है ।

 

141°पश्चिमी देशांतर

यह अलास्का USA तथा कनाडा के बीच एक अंतरराष्ट्रीय सीमा है ।

रेखा 49 वी समानांतर

अमेरिका व कनाडा के बीच जिस अंतरराष्ट्रीय रेखा का अस्तित्व है

उसे 49 वी समानांतर रेखा कहते हैं ।

ओडरनीसे रेखा 

पूर्वी जर्मनी तथा पोलैंड के बीच जिस सीमा का अस्तित्व माना जाता है

उसे ओडरनीसे रेखा कहा जाता है ।

 

सीग फ्रायड रेखा 

द्वितीय विश्व युद्ध के पूर्व फ्रांस तथा जर्मनी की सीमा पर

दीवारों, मीनारों, और सैनिक चौकियों से घिरी प्रति रक्षा रेखा

जो जर्मनी द्वारा विकसित की गई थी

उसी अंतरराष्ट्रीय सीमा रेखा को सीग फ्रायड रेखा कहा जाता है ।

ऐसा नहीं है कि आज

सिर्फ यही अंतरराष्ट्रीय सीमा अस्तित्व में हैं

इनके अलावा भी कुछ रेखाएं हैं

जिनकी चर्चा समय-समय पर होती रहती है ।

 

धन्यवाद

के पी सिंह किर्तीखेड़ा 06082018

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here