जनरल नॉलेज और भारतीय इतिहास

1
85

जनरल नॉलेज और भारतीय इतिहास 

जनरल नालेज और भारतीय इतिहास के बहाने से आज मुझे आपसे कुछ कहना है।

कहना है कि जनरल नॉलेज को मजबूत बनाएं, क्योंकि यह एक सच्चाई है कि भारत, 

की किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की सबसे मजबूत दीवार यही है।

एक खास बात यह भी है कि भारतीय इतिहास

जनरल नॉलेज के लिए बेहद महत्वपूर्ण विषय है।

क्योंकि इतिहास का काफी बड़ा भाग जनरल नॉलेज में शामिल किया जाता है। 

इसे पार करना या इसके ऊपर से छलांग मारना न

सबके बस की बात है, और न ही साधारण बात है।

किसी भी  प्रतियोगिता का यह एक ऐसा पोर्शन है जो लगता है, 

सबको परेशान करने के लिए ही बनाया गया है।

मगर चिंता की कोई बात नहीं है दोस्तों, या दूसरे

शब्दों में कहें तो दुनिया में हर मर्ज का इलाज है।

इस मर्ज का भी उत्तम और शर्तिया इलाज है, और सच कहें तो इसी का नाम है जनरल नालेज।

यानी जनरल नालेज की समस्या का सबसे बड़ा समाधान भी खुद जनरल नालेज ही है।

अगर आपका जनरल नालेज मजबूत है तो फिर आपको डरना नहीं समझ लो सबको डराना है।

जनरल नॉलेज को मजबूत करने का बस एक ही

उपाय है और वह है जनरल कालेज का ज्यादा से ज्यादा रिवीजन कुछ इस तरह,,,,,, 

जनरल नॉलेज और भारतीय इतिहास 

जनरल नालेज और भारतीय इतिहास की कहानी कुछ इस तरह की है। 

🔴आदि मानव द्वारा सर्वप्रथम जिस धातु का खुद  के लिए उपयोग किया गया  वह तांबा थी।

🔴भारतीय इतिहास में अग्रहार उस गांव को कहा जाता था, जो ब्राह्मणों को दान दे दिए जाते थे।

🔴हड़प्पा की खोज का श्रेय रायबहादुर दया राम साहनी को जाता है।

🔴सांख्य, योग, न्याय, वैशेषिक, मीमांसा  व वेदांत

इन सभी छ दर्शन की स्पष्ट रूप से अभिव्यक्ति हुई है वैदिक युग में।

🔴शवाधान हेतु दाह संस्कार के साथ साथ अन्य

अनुष्ठानों की शुरुआत मध्य पाषाण काल में मानी जाती है।

🔴पुनर्जन्म का पहली बार उल्लेख हमें शतपथ ब्राह्मण नामक ग्रंथ में मिलता है।

🔴गौतम बुद्ध ने अपना पहला उपदेश सारनाथ में पाली भाषा में दिया था।

🔴महामस्तकाभिशेक बाहुबली से संबंधित घटना है।

🔴हमारे भारत में सबसे पहला विदेशी आक्रमण ईरानियों ने किया था।

🔴पाटिलपुत्र नामक स्थान में सर्व प्रथम चंद्र गुप्त मौर्य ने अपनी राजधानी बनाया था ।

  🔴अमित्रघात राजा बिन्दुसार का दूसरा नाम था 

🔴बीस से ज्यादा किताब लिखने वाला शासक था राजा भोज।

🔴11वीं शताब्दी के भारत का दर्पण अरबी यात्री अलबरूनी  की रचनाएं थीं।

🔴गजनी का प्रथम शासक जिसने सुल्तान की

उपाधि खलीफाओं से ली थी वह महमूद गजनवी था।

🔴अमीर कोही यानी कृषि विभाग की स्थापना मुहम्मद बिन तुगलक ने की थी।

🔴सल्तनत काल में शाही सचिवालय का प्रधान  “दबीर ए मुमालिक” कहलाता था।

🔴भक्ति आंदोलन को उत्तर भारत में दक्षिण से रामानंद जी लाए थे।

🔴जिन्दा पीर औरंगजेब को कहा जाता था।

🔴तख्ते ताऊस पर बैठने वाला अंतिम मुगल मुहम्मद शाह रंगीला है।

🔴वारेन हेस्टिंग्स भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी का पहला गवर्नर जनरल था।

🔴भारत में सिविल सेवा के सूत्रपात का श्रेय लार्ड कार्नवालिस को जाता है।

🔴 द डेक्कन एजूकेशन सोसाइटी की स्थापना एम जी राना डे ने की थी। 

धन्यवाद

KPSINGH 09072018

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here