विश्व के महासागर : एक परिचय

2
343

विश्व के महासागर एक परिचय 

विश्व के महासागर कुल पांच हैं, जिनके नाम हैं प्रशांत महासागर, अटलांटिक महासागर, हिंद महासागर, आर्क्टिक महासागर, अंटार्कटिका महासागर।

पृथ्वी का 70 • 8% भाग जल या जल मंडल,

और 29 • 2% भाग पर स्थल का विस्तार है

संपूर्ण भू-मंडल का क्षेत्रफल 51 • 00 करोड़ वर्ग मीटर है।

जिसका 36 • 17 करोड़ वर्ग किलोमीटर पर जल और 14 • 89 करोड़ वर्ग किलोमीटर पर स्थल का विस्तार होता है।

इस जलमंडल में महासागर, खादियां आदि सम्मिलित किए गए हैं

दोस्तों इस पोस्ट पर हम केवल महासागर परिचय का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं।

इस लिए आइए, विश्व के महासागरों के बारे में कुछ विस्तार से

जानना कोशिश करना

प्रशांत महासागर 

● पृथ्वी पर सभी पांच 5 महासागरों में प्रशांत महासागर सबसे बड़ा महासागर है

●इसका क्षेत्रफल 165723740 वर्ग किलोमीटर है ।

●यह सभी महासागरों में सबसे अधिक गहरा है ।

●इसकी औसत गहराई 4572 मीटर  है ।इसकी आकृति त्रिभुजा कार है ।

●इसका विस्तार समस्त स्थल भाग के क्षेत्रफल से भी ज्यादा है ।

●यह उत्तर में बेरिग जल संधि दक्षिण में अंटार्कटिका पश्चिम में एशिया महाद्वीप तथा पूर्व में उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका महाद्वीप से घिरा है ।

● अंतरराष्ट्रीय तिथि रेखा प्रशांत महासागर से ही गुजरती है ।

●इस सागर के दोनों तटों पर वलित पर्वत श्रृंखला पाई जाती हैं ।

●इस महासागर में सर्वाधिक द्वीप पाए जाते हैं, जिनकी संख्या बीस हजार से भी ज्यादा है ।

इसी महासागर में विश्व का सबसे गहरा बिन्दु मारियाना ट्रेंच स्थित है ।

अटलांटिक महासागर 

●प्रशांत महासागर के बाद यह विश्व का दूसरा सबसे बड़ा महासागर है ।

●इसका आकार अंग्रेजी के एस से मिलता है ।

●इसका क्षेत्रफल 8•296 करोड़ वर्ग किलोमीटर है ।

●इस महासागर के पश्चिम में उत्तरी अमेरिका तथा पूर्व में यूरोप एवं अफ्रीका स्थित हैं ।उत्तर में ग्रीन लैंड तथा दक्षिणी भाग खुला हुआ है ।

●इसे सर्वाधिक कटक वाला महासागर कहते हैं ।

●मध्य अटलांटिक कटक इसे दो भागों में बांटता है ।

●भूमध्य रेखा के उत्तर स्थित कटक को डाल्फिन उभार कहते हैं ।

●इसी महासागर में बहामा के पास बरमूडा ट्रेंगल पाया जाता है जहां जहाज विलुप्त हो जाते हैं ।

हिन्द महासागर 

●हिन्द महासागर अटलांटिक महासागर से छोटा है ।

●इसका कुल क्षेत्रफल 73425500 वर्ग मीटर है ।

●इस महासागर का उत्तरी किनारा पूर्णतः विकसित न होने तथा कटा फटा होने के कारण इसे अर्ध  महासागर कहते हैं ।

●यह महासागर उत्तर में एशिया, पश्चिम में अफ्रीका, पूर्व में एशिया, दक्षिण पूर्व में आस्ट्रेलिया तथा दक्षिण में अंटार्कटिका महाद्वीप से घिरा है ।

●दक्षिण में  अंटार्कटिका के पास इसका संबंध प्रशांत महासागर तक तथा अटलांटिक महासागर से हो जाता है ।

● हिंद महासागर में गर्त की संख्या कम पाई जाती है।

बावजूद में यहां सोने के गर्त और डायमेयंटिया गर्त पाए जाते हैं।

● इस महासागर में काल्स बर्ग कटक भारत और अफ्रीका के मध्य स्थित है।

● कर्क रेखा इसकी उत्तरी सीमा है

आर्क्टिक महासागर 

● उत्तर ध्रुव की तरफ स्थित यह महासागर अन्य महासागरों की तुलना में सबसे छोटा है

● आर्कटिक महासागर की प्रमुख बेसिन ग्रीन लैंड और नार्वेजियन हैं

● विश्व में सबसे अधिक चौड़ाई वाला महाद्वीप मग्न तट साइबेरियन सेल्फ इसी महासागर की है

● फराओ कटक और पिट्सबर्ग कटक इस के प्रमुख कटक हैं

अंटार्कटिका महासागर 

● अंटार्कटिका महासागर दक्षिणी ध्रुव की तरफ़ स्थित है

● यह दक्षिणी महासागर भी कहते हैं

● इसका सीमांकन ग्रेट बेस्ट बिन्दु ड्रिफ्ट द्वारा होता है।

● इसलिये अंटार्कटिका महासागर को प्रशांत महासागर, अटलांटिक, और हिंद महासागर का दक्षिणी भाग कहते हैं।

 

 

धन्यवाद

लेखक: के पी सिंह

13043018 

 

 

 

 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here