बाल आधार योजना क्या है?

1
26

बाल आधार योजना क्या है? 

बाल आधार योजना क्या है?

यह जानना बेहद जरूरी है ।

क्योंकि इस में की गई देरी हो सकता है भविष्य में बहुत महंगी साबित हो ।

जी हां दोस्तों ,मैं आपको डराने की कोशिश नहीं कर रहा।

बल्कि हकीकत यह है कि मैं आपको यह बताने की कोशिश कर रहा हूं कि आप यह भली भांति समझ लें,

कि आखिर यह बाल आधार योजना क्या है? 

पहले इसे समझें 

बाल आधार योजना क्या है?

इसे जानने के लिए आपको पहले यह समझना होगा कि,

अभी हाल ही में सरकार ने पांच साल तक के नव जात शिशुओं का आधार कार्ड बनाने की जिस,

योजना की शुरुआत की है उसका नाम ब्लू आधार कार्ड योजना या बाल आधार कार्ड योजना रखा गया है ।

बुद्धिमानी इसी में है कि आप समय न गंवाते हुए जितना जल्दी हो सके उतनी जल्दी ,

इस योजना का लाभ उठाने की कोशिश करें ।

बाल आधार कार्ड योजना आपके लिए ही है यदि ,

आपके घर में कोई बालक बालिका एक दिन की अवधि से पांच साल तक की उम्र का मौजूद है।

क्यों जरूरी है बाल आधार

बाल आधार योजना क्या है?

यह तो बताने लायक है लेकिन मुझे नहीं लगता आधार की जरूरत बताने की जरूरत है ।

धीरे-धीरे ही सही आज स्थिति यह है कि आधार कार्ड की जरूरत लगभग हर जरूरी जगह में तय कर दी गई है ।

आज आधार कार्ड कितना महत्वपूर्ण हो गया है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि ,

31 मार्च 2018 से बैंक, बीमा, गैस एजेंसी, मोबाइल फोन आदि कुल 139 सरकारी सेवाओं में अब तक आधार की अनिवार्यता तय कर दी गई है ।

आपको ध्यान रखना है कि आपको अपनी सभी जरूरी जगहों पर आधार का इस्तेमाल ही करना होगा ।

क्या है बाल आधार कार्ड 

बाल आधार का दूसरा नाम ब्लू आधार कार्ड योजना भी है ।

बाल आधार कार्ड उन बच्चों का बनेगा जो पांच साल  तक की  उम्र के हैं ।

इस कार्ड का चूंकि रंग ब्लू है इसी लिए इसे  ब्लू  कार्ड नाम दिया गया है ।

यह आधार कार्ड चूंकि केवल पांच साल तक के बच्चों का बनना है अतः इसे बाल आधार नाम दिया गया है ।

इस आधार कार्ड को बनवाने के लिए किसी खास जगह नहीं जाना,

बल्कि यह किसी भी केंद्र में जाकर बनवाया जा सकता है ।

सावधानी रखें

बाल आधार कार्ड बनवाने में आपको कुछ सावधानियां रखनी ही होंगी ।

चूंकि बाल आधार तभी बनेगा जब बच्चे के माता-पिता में से ,

किसी एक के आधार कार्ड का नम्बर मिलेगा ।

इस लिए जब भी अपने बच्चों का बाल आधार कार्ड बनवाने जाएं माता-पिता के कार्ड का नम्बर जरूर ले कर जाएं ।

एक खास बात यह है कि बच्चे की बर्थ सर्टिफिकेट के रूप में अस्पताल से मिला जन्म प्रमाणपत्र भी प्रस्तुत करना होगा ।

यह भी ध्यान दें कि बच्चे का एक फोटो जरूर लेते जाएं ।

और हां बच्चे का आधार कार्ड बनवाने में बच्चे की बायोमीट्रिक वेरीफिकेशन नहीं की जाती ।

कब होगा रिन्यूअल 

बाल आधार कार्ड यद्यपि पांच साल तक के बच्चों हेतु बनवाया जाना है ।

इस लिए यह जानने की  भी जरूरत है कि इस कार्ड का रिन्यूअल ठीक पांच साल बाद ही होगा ।

विशेष ख्याल रखें कि जब यह पांच साल बाद रिन्यूअल होगा ,

तब उस समय बच्चे की बायोमीट्रिक वेरीफिकेशन भी करानी होगी ।

कुल मिलाकर अगर यह कहा जाए कि आधार का यह छोटा भीम ,

बड़े काम का है तो कतई गलत नहीं होगा ।

धन्यवाद

लेखक: केपी सिंह

13 03 2018 

 

 

 

 

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here