केंद्र सरकार की प्रमुख योजनाएं एवं कार्यक्रम

1
55

 

केन्द्र सरकार की प्रमुख योजनाएं एवं कार्यक्रम 

 

केन्द्र सरकार की प्रमुख योजनाएं एवं कार्यक्रम केइस संदर्भ सहित  प्रसंग में,

मैं आपको  महत्वपूर्ण विषय क्षेत्र की ओर ले जाना चाहता हूं।

इसका कारण यह है कि मैं बस चाहता हूं कि आप

किसी भी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षा में हतास या फिर और निराश न हों।

अक्सर केंद्रीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों के बारे में

छोटी अथवा  बड़ी सभी राज्य स्तर या राष्ट्रीय स्तर की परीक्षाओं में सवाल पूछे जाते हैं।

इसलिए यह बेहद महत्वपूर्ण है कि हम ऐसे किसी भी  सवाल की जानकारी ठीक कर लें। 

प्रमुख योजनाएं इस प्रकार हैं 

मेक  इन इंडिया योजना देश में 25 सितंबर 2014 को प्रारंभ हुई। 

इसका उद्देश्य भारत को विनिर्माण क्षेत्र का प्रमुख केंद्र बनाना है।

सांसद आदर्श ग्राम योजना 11 अक्टूबर 2014 को प्रारंभ हुई।

इसके तहत 31 मार्च 2019 तक प्रत्येक सांसद को 3 गांवों का विकास करना है। 

यह योजना 28 अगस्त 2014 को प्रारंभ हुई थी।

इसका लक्ष्य सभी परिवारों के लिए बैंक में खाता खुलवा कर वित्तीय समावेश सुनिश्चित करना है।

डिजिटल भारत योजना 20 अगस्त 2014 को प्रारंभ हुई थी।

इसका लक्ष्य देश को डिजिटल के साथ शक्ति

सम्पन्न और सूचना आधारित अर्थ व्यवस्था बनाना है।

पंडित दीनदयाल श्रमेव जयते कार्यक्रम की देश में शुरुआत 16 अक्टूबर 2014 को हुई।

इसका लक्ष्य श्रम कानूनों में सुधार करके श्रमिकों की दशा सुधारना है।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय अन्न योजना की शुरुआत 25 सितंबर 2014 को हुई थी।

इसका उद्देश्य शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में कौशल का

विकास एवं अन्य साधनों के माध्यम से रोजगार के अवसर बढ़ा कर निर्धनता को दूर भगाना है।

पंडित दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना 20 नवम्बर 2014 को प्रारंभ हुई थी।

इसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करना है।

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण की शुरुआत देश में 2अक्टूबर 2014 को हुई थी।

इसका मकसद ग्रामीण परिवारों के लिए शौचालय की सुविधा प्रदान करना था।

बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना की शुरुआत 22 जनवरी 2015 को हुई थी।

इसका मकसद था भ्रूण हत्या को रोकना तथा

शिक्षा के जरिए उनका सशक्तिकरण करना।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना की 9 मई 2015 को शुरुआत हुई थी।

इसका लक्ष्य 18 से 70 साल के लोगों के लिए दो लाख रुपए का बीमा करना था।

9 मई 2015 को ही अटल पेंशन योजना भी शुरू हुई थी।

इसका उद्देश्य असंगठित क्षेत्र के लोगों के लिए भी मासिक पेंशन की सुविधा देना था।

अमृत योजना का प्रारंभ इस देश में 25 जून को 2015 को हुआ था।

इसका उद्देश्य एक लाख से अधिक जनसंख्या के 

500 से अधिक शहरों में आधारिक संरचना का विकास करना था।

स्मार्ट सिटी योजना की शुरुआत 25 जून 2015 को हुई थी।

इसका उद्देश्य 2015 से 2020 के बीच 100 खास

शहरों का स्मार्ट विकास करना था।

कौशल ऋण योजना की शुरुआत 15 जुलाई 20 15 को हुई थी।

बेरोजगारों को कौशल विकास के लिए धन उपलब्ध कराना था। 

 

धन्यवाद

KPSINGH27052018

 

 

 

 

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here