विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट क्या है?

4
113

 विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट   क्या है? 

 

          विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट आखिर क्या है? 

यदि  आज  आप को  सचमुच  ही इस  सवाल का  जवाब चाहिए,

तो आपको मेरे साथ 7 साल पीछे चलना होगा।

आपको मेरे साथ विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट की पृष्ठभूमि में  चलना होगा ।

यानी 2011 में जब इसे तैयार करना शुरू किया गया था,

जुलाई 2011 में संयुक्त राष्ट्र महा सभा ने एक ऐतिहासिक प्रस्ताव पास किया।

इस प्रस्ताव के अनुसार सदस्य देशों को अपने नागरिकों की,

प्रसन्नता के स्तर को मापने और इसके परिणामों का उपयोग,

लोक नीतियों का निर्माण करने के लिए निर्देशित किया गया था।

इस प्रस्ताव के अनुपालन में अप्रैल 2012 में,

भूटान के तत्कालीन प्रधान मंत्री की अध्यक्षता में,

“प्रसन्नता और अच्छे रहन  सहन” शीर्षक से संयुक्त राष्ट्र ,

उच्च स्तरीय सम्मेलन का आयोजन किया गया था।

इस सम्मेलन से प्राप्त निष्कर्षों के आधार पर संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा,

वर्ष 2012 में पहली बार विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट जारी की गई थी  

विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट 2018 

विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट 2018 संयुक्त राष्ट्र संघ ने 14 मार्च 2018 जारी किया है।

इसके अनुसार मुख्य तथ्य ये हैं

● इस रिपोर्ट के अनुसार फिनलैंड प्रथम स्थान पर है।

● इसका तात्पर्य यह हुआ कि फिनलैंड के लोग दुनिया में सबसे ज्यादा खुश रहेंगे

● ध्यान देना बात यह है कि फिनलैंड ने यह स्थान नॉर्वे से छिना है।

विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट 2017 अनुसार विश्व का सबसे खुशहाल देश नॉर्वे है

● सबसे महत्वपूर्ण यह है कि खुशहाल स्थानीय लोगों के अलावा,

● फ़िनलैंड सबसे खुशहाल अवासी लोगों का भी देश है

● विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट 2018 के अनुसार सबसे नाखुश देश बुरुनडी है

● इस रिपोर्ट में कुल 156 देशों को शामिल किया गया है,

जिनमें भारत का स्थान 133 वें है

● अगर हम विश्व की खुशहाली रिपोर्ट 2017 की तुलना करें तो भारत,

कुल 11 अंकों का या 11 पायदान का नुकसान हुआ है।

● भारत में 122 वें स्थान पर था

विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट और विश्व 

विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट 2018 के अनुसार इस सूची में भारत के पड़ोसी देश भारत से बेहतर हैं।

पाकिस्तान, चीन, बांग्लादेश, श्री लंका, म्यांमार भारत से अधिक खुश हाल देश साबित हुए हैं।

● ध्यान देने वाली बात यह है कि      पाकिस्तान, 

 पांच पायदान ऊपर चढ़कर 75 वें स्थान पर पहुंच गया है।

● जब कि भारत 10 स्थान नीचे खिसक गया है।

और 122 वें स्थान से खिसककर 133 वें स्थान पर पहुंच गया है ।

श्रीलंका 4 स्थान की छलांग से 116 वें स्थान पर पहुंच गया है।

● रिपोर्ट अनुसार ब्रिटेन, अमेरिका जैसे देशों की रैंकिंग में गिरावट आई है।

अमेरिका में 18 वें और ब्रिटेन में 19 वें स्थान पर हैं।

कैसे बनती है यह रिपोर्ट? 

विश्व प्रसन्नता रिपोर्ट 2018 को तैयार करने में जिन, 

 कारकों  या मानकों को शामिल किया गया है।

उनमें Life expectenci social sport तथा करप्शन आदि को ध्यान में रखा गया है ।

इस रिपोर्ट को कुछ और भी कारकों  की मदद से तैयार किया गया है।

जैसे:

● भ्रष्टाचार

● आय,

● जीवित रहने की उम्र

● स्वास्थ्य, जीवन प्रत्याशा

● सामाजिक सहयोग, आजादी, भरोसा

● एक दूसरे के प्रति उदारता या 

● दानशीलता

यह रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र ससटेनेबल विकास,

सॉल्यूशन नेटवर्क की निगरानी में तैयार की  गयी है।

इस बार इस रिपोर्ट में शरणार्थी और अप्रवासी लोगों की,

खुशहाली भी शामिल की गई है ।जो एक विशेष बात है । 

 

धन्यवाद

KPSINGH31032018

 

 

 

 

 

 

 

 

 

4 COMMENTS

  1. सर, इस रिपोर्ट के बारे में या यूँ कहें कि ऐसी भी रिपोर्ट होती है |इसकी जानकारी पहली बार मिली है |अच्छी और ज्ञानवर्धक जानकारी है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here