असफलता के तर्क न दें

0
377

 

हिम्मत

..सफलता का तर्क न दें ..

असफलता का तर्क नहीं दें,

भले ही कितने बार असफल क्यों न हो जाए?

लेकिन   आप ताजजुब हो सकता है,

क्योंकि मैं तो अकसर ऐसे-ऐसे लोगों को देखा जो कि,

इसके अतिरिक्त कुछ करना ही नहीं जानते हैं

ऐसे व्यक्ति आप भी देख सकते हैं, जो पहले खुद को महान ग्यानी मानने की गलती बड़ी सिद्तत से करते हैं।

 और फिर कामचोरी सहित सभी मूर्खतापूर्ण व्यवहार से पूरे विश्व को दिखाया जा सकता है कि असली लालू कौन है? 

 जब बाद में उनके हांथ सफलता की बजाए असफलता आती है तो,

अपनी असफलता को स्वीकार करके फिर से ईमानदारी से प्रयास करने की बजाय,

अपनी असफलता के पक्ष में ही तथाकथित तर्क देते हैं

और न चाहते हुए भी यह साबित करते हैं कि उनको अकेला लाल का प्यारा खिताब मिलना चाहिए

ऐसे लोगों के बारे में कुछ अधिक जानने के लिए आप को इस लेख के बारे में सोच से पहले पढ़ना होगा

हम इस लेख में देखेंगे कि वह असफल होने के बावजूद भी किस,

चालाकी से अपनी मूर्खतापूर्ण सोच को भी सही साबित करने की असफल कोशिश भी करते हैं ।

सच कहें तो ऐसे लोग अपना खुचा समय अपनी उन्नति के लिए कुछ सोचने में नहीं करते बल्कि दूसरे के यशोगान में खर्च करते हैं

।अगर कुछ समय फिर भी बच गया तो खुद की निन्दा में खर्च कर देते हैं ।

 

जी हां दोस्तों, जिन लोगों के बारे में बात करने के लिए मेरा पहला काम ये है कि वे खुद को समय बिगाड़ते हैं,

हम भी बताते हैं कि हम चीज क्या हैं जब कि हकीकत में यही होगा कि वह कुछ चीज नहीं है।

सच पूछिए तो अपनी असफलता के बाद उसे सफलता में बदलने के बजाए जो जीवन भर विफल रहा है ,

यह सब कमजोर तर्क है क्योंकि या तो समय किसी का नहीं होता है या सबका होता है,
समय में वस्तुतः उसी का होता है जो सचमुच का होता है।

अपनी आचरण में परिवर्तन करना जानता है समय सी का होता है या फिर उसी के साथ होता है

अपना कोई बैक या जैक नहीं है

अपनी असफलता के भी तर्क तलाशने वाला कुछ बहादुर जन इस जुमले का भी भरपूर बड़ाना करते हैं

जब भी आप अपनी विफलता के कारण पूछते हैं तो यह विश्व के नायब नायक की तलाश नहीं है बल्कि यह कहता है कि अगर हम किसी भी गोदाफ़र होने या फिर किसी भी बैकअप पावर होने पर धरती को उल्लखित करते हैं। ऐसे लोग खुद को सदा दीन हीन ही घोषित करते हैं, अर्थात् यह सिद्ध करना है कि वे दुनिया में विजयी हैं तो उनके भी कोई जान पहचान या जैक पावर हो जाएंगे। यह लोग कभी भूल नहीं भी असफलता का वास्तविक कारण अर्थात् अपनी गलती की तरफ़ न तो ध्यान देना और न ही ध्यान देना उसे भी पहचानना चाहिए यह एनकेनपरकारन बस यही सिद्ध करना चाहता है कि आप को सफल कहते हैं कि वह जैक या बैक से सफल है। यदि यह जैकबैक की पावर उन के पास भी हैं तो असली सफलता में ये मिलेंगे वाला है

किस्मत से अधिक और किस्मत से पहले

असफलता के झूठे तर्क गढ़ने वाले इस तथ्य को निश्चित रूप से सामने प्रस्तुत करते हैं कि किस्मत से अधिक और समय से पहले सफलता किसी से मिलती है इसी वजह से उन्हें भी इसी कारण से सफलता मिली नहीं। आख़िर उनकी किस्मत और समय जब उन्हें सफलता मिलती है तो वह कहता है कि यह तो राज है असली दुनिया का। अब ये इनको बताए कि किस्मत से अधिक समय पहले की कथित घटित या तर्क किसी और ने नहीं आलसी और कामचोरी में माहिर सत्यनाशी की तरह का लोगो का यह महान खोज है जो किसी भी कभी कभी स्वप्न भी अलग नहीं है।

सदाबहार जमेले और असफलता तर्क

आप असफल लोग मिलते हैं, आप जितना मेहनत नहीं करते, उतना ही पता चलता है कि आप जल्द से जल्द पता चल जाएगा कि किस हस्ति मिलते हैं। सच कहो तो असफल लोग दिमागी जड़ता का शिकार हो मजेदार बात तो यह है कि जो व्यक्ति जितना अधिक असफल होने के कारण वह बहुत असभ्य जड़ता का शिकार होगा। मैं तो आप को कहो कि तुम कभी-कभी खुद को भी चेक करोगे। नहीं है

विफलता के तर्क के बीच सफलता का रास्ता

इसका तात्पर्य यह है कि यदि आप वास्तव में अपनी कोशिशों में ईमानदारी से जुड़े हैं तो चिंता का कोई बात नहीं है। विफलता से बचने के लिए एक ही तरीका है कि विफल लोग सफल लोगों की तरफ देखें सफल लोगों से प्रेरणा प्राप्त करें और सबसे अनमोल बात यह है कि जो भी विफल और सफल होने के लिए हैं उन्हें सबसे पहले किसी अन्य का सफलता का सम्मान करना सीखना चाहिए

धन्यवाद
लेखक: के पी सिंह
15022018

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here